मंगलवार, दिसंबर 02, 2008

क्या करोगे दाऊद और अजहर को लेके !

मुंबई हमले के बाद लग रहा है की जैसे सब कुछ बदल जाएगा। दो पाटिल नाप दिए गए। कुछ और नप सकते है। भले ही अखबारों में हैडिंग बने कि पाटिल ने इस्तीफा दिया पर मैं इसे इस्तीफा नहीं मानता। मैं मानता हूँ कि इस्तीफा दिया नहीं वल्कि लिया गया है। नहीं तो एक दिन पहले वही पाटिल कहे है किमैं इस्तीफा नहीं दूँगा और अगले दिन ख़बर आती है कि पाटिल ने इस्तीफा दिया। मेरे ख़याल से ये सब नौटंकी हो रही है। सब एक ही थाली के चट्टे बट्टे है। चुनाव नजदीक है इसलिये ये सब कबायद है। जिससे कि होने वाले नुक्स्सान कि कुछ हद तक भरपाई कि जा सके।
एक और बात जो मैं सनझ नहीं पा रहा हूँ वो ये कि दाऊद इब्राहीम और मसूद अजहर को लेके भारत करेगा क्या। पहली बात तो ऐसे कह देनें से ये भारत आ नहीं जायेंगे चलो मान लेते हैं कि आ जायेंगे तो इनका क्या होगा। क्या हम उन्हें फांसी पर लटका देंगेअरे जो हमारे पास हैं उसको तो हम खिला पिला कर मोटा कर रहे हैं कुछ और बुला लो उनको भी खिलाओ पिलाओ। मंदी के इस दौर में जहाँ आदमी ख़ुद ठीक से खा पी नहीं पा रहा हैं। भारत सरकार अब पाकिस्तानियों को मोटा करेगी।
मेरा माननाहैं कि जो आतंकबादी हमारे पास हैं उनका फ़ैसला करें। फ़िर आगे की बात करें। पिछले दिनों एक ख़बर आई की आगरा जेल में बंद कुछ आतंकियों ने भूख हड़ताल कर दी। जेल का पूरा अमला उन्हें बचने मैं लगा रहा। मुझे ये साब जान कर शर्म आई की जेल प्रशाशन ने उन आरंकियों को जूस पिलाया। अरे मेने दो ऐसे आतंकियों को जिन्दा रख कर उनका करना क्या हैं। फ़िर किसी दिन कोई प्लेन या बिल्डिंग हाइजैक हो जाएगी और हमारी सरकार फ़िर आतंकियों को छोड़ने चल देगी। पहले अफजल गुरु पर फ़ैसला करो। हाँ याद आया मसूद अजहर को तो हमने पकड़ लिया था। उसको कुछ दिन जेल मैं रख कर खिलाया पिलाया और फ़िर। फ़िर क्या। फ़िर हमारे माननीय गृह मानती महोदय उसे ससम्मान कंधार तक छोड़ कर आए थे। मसूद और दाऊद यहाँ आ भी जायेंगे तो क्या गारंटी की उन्हें अपने किए की सज़ा मिलेगी। सबसे पहले जो आतंकी हमारे पास हैं उन्हें सज़ा दीजिये उसके बाद आगे की बात कीजिए

5 टिप्‍पणियां:

रचना गौड़ ’भारती’ ने कहा…

Absouletely right
आपने बहुत अच्छा लिखा है ।
भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है।
लिखते रहि‌ए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
मेरे द्वारा संपादित पत्रिका देखें
www.zindagilive08.blogspot.com
आर्ट के लि‌ए देखें
www.chitrasansar.blogspot.com

ई-गुरु राजीव ने कहा…

सोनिया गाँधी पूरियां बेलने में उस्ताद हैं. अब तक अफजल को तल कर खिला रही थीं, अब मसूद अजहर और दाउद को खिलाना चाहती हैं.

ई-गुरु राजीव ने कहा…

हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

शुभकामनाएं !

--'ब्लॉग्स पण्डित'
http://blogspundit.blogspot.com/

ई-गुरु राजीव ने कहा…

आपका लेख पढ़कर हम और अन्य ब्लॉगर्स बार-बार तारीफ़ करना चाहेंगे पर ये वर्ड वेरिफिकेशन (Word Verification) बीच में दीवार बन जाता है.
आप यदि इसे कृपा करके हटा दें, तो हमारे लिए आपकी तारीफ़ करना आसान हो जायेगा.
इसके लिए आप अपने ब्लॉग के डैशबोर्ड (dashboard) में जाएँ, फ़िर settings, फ़िर comments, फ़िर { Show word verification for comments? } नीचे से तीसरा प्रश्न है ,
उसमें 'yes' पर tick है, उसे आप 'no' कर दें और नीचे का लाल बटन 'save settings' क्लिक कर दें. बस काम हो गया.
आप भी न, एकदम्मे स्मार्ट हो.
और भी खेल-तमाशे सीखें सिर्फ़ 'ब्लॉग्स पण्डित' पर.

संगीता पुरी ने कहा…

आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है.....आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे .....हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails